हिंदी English

CBSE Exam 2021 : प्राइवेट छात्रों की परीक्षा 16

सीबीएसई ने कहा है कि वो सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के अनुसार 10वीं 12वीं कक्षा के प्राइवेट कैटिगरी के छात्रों की परीक्षाएं 16 अगस्त से 15 सितंबर के बीच आयोजित करेगा। बोर्ड ने कहा है कि प्राइवेट अभ्यर्थियों का परिणाम बिना परीक्षा के तैयार नहीं किया जा सकता क्योंकि ना तो स्कूलों के पास उनके मूल्यांकन के लिए रिकॉर्ड है और ना ही बोर्ड के पास। बोर्ड ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में इस संबंध में विस्तृत चर्चा भी हुई थी। शीर्ष अदालत और सभी याचिकाकर्ताओं ने प्राइवेट छात्रों की परीक्षा कराने के निर्णय पर सहमति जताई थी। 

प्राइवेट स्टूडेंट्स के लिए एग्जाम डेट जारी करते हुए सीबीएसई ने कहा कि स्कूलों ने रेगुलर स्टूडेंट्स के यूनिट टेस्ट, मिड टर्म एग्जाम व प्री बोर्ड एग्जाम करवाए थे। ऐसे में इन छात्रों के प्रदर्शन का रिकॉर्ड स्कूलों के पास उपलब्ध है। लेकिन प्राइवेट स्टूडेंट्स का कोई रिकॉर्ड नहीं है। इसलिए रेगुलर स्टूडेंट्स की मूल्यांकन पद्धति प्राइवेट छात्रों के लिए नहीं अपनाई जा सकती। प्राइवेट स्टूडेंट्स के लिए परीक्षा करानी जरूरी है।

बोर्ड ने कहा कि परीक्षा संपन्न होने के बाद बेहद कम समय में इन छात्रों का रिजल्ट जारी किया जाएगा ताकि इन्हें उच्च शैक्षणिक संस्थानों में प्रवेश लेने में कोई दिक्कत न आए। इस संबंध में जल्द ही नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया जाएगा। 

बोर्ड ने कहा है कि यूजीसी और सीबीएसई सभी छात्रों का हित चाहती है। वर्ष 2020 की तरह यूजीसी इन छात्रों के रिजल्ट को ध्यान में रखकर एडमिशन शेड्यूल तय करेगा।

रेगुलर छात्रों का रिजल्ट तैयार करने की अंतिम तिथि बढ़ी

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने कक्षा 12वीं के नतीजों को अंतिम रूप देने के लिए तय की गई लास्ट डेट को बढ़ा दिया है। पहले स्कूलों को 12वीं कक्षा का रिजल्ट 22 जुलाई तक तैयार करने के लिए कहा गया था लेकिन अब इसे बढ़ाकर 25 जुलाई कर दिया गया है।

संबंधित खबरें

Source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *